search(यहाँ खोजें)

STD PCO चलाने वाला लड़का कैसे बना 10.2 करोड़ वाले कंपनी का मालिक ? hindi motivational story.hindi biography of sandeep maheshvari.

     हेलो दोस्तों www.chhotubhai.com में आपका स्वागत है. आज हम ऐसे एक आदमी के बारे में जानने वाले है जिसके नाम से आज का लगभग हर युवा परिचित है. और उनकी बातो को सुनकर मन में एक नयी शक्ति एक नया उमंग आ जाता है.
वे एक ऐसे आदमी है जिन्होंने अपने छोटे से उम्र से ही परिवार को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए तरह तरह से प्रयास किया और आज एक ऐसे मुकाम पर है जिनसे न सिर्फ भारत बल्कि पुरे विश्व को एक सिख प्रदान की है.
एक STD PCO चलाने वाला लड़का कैसे बना 10.2 करोड़ वाले कंपनी का मालिक ?


ये कहानी है एक ऐसे लड़के की जिसको बचपन से ही कुछ करने और कुछ बनने  की चाहत थी. परन्तु कुछ परिथतियों  के कारण उन्हें अपनी कालेज  B.Com की पढाई छोड़नी पड़ी.

तो आइये जानते है उनका कठिनाई भरा जीवन और और सफलता के बारे में की आखिर क्यों और कैसे उन्होंने  एक STD PCO से 10.2 करोड़ फायदे वाली कंपनी खड़ी कर दी.
sandeep maheshvari hindi story and biography
sandeep amhesvari hindi sucess story and biography


उस लडके का नाम संदीप माहेश्वरी था उसका जन्म 28 सितम्बर 1980 को हुआ था.

उनका एक छोटा परिवार था जिसमे उनके माता पिता भाई रहते थे. उनके पिताजी का एल्युमिनीयम का बिजेनस करते थे. जो की किसी और व्यक्ति के साथ पार्टनरशिप में था. फिर एक दिन किसी  कारण उनका बिज़नेस बंद हो गया और सारा सामान बेचना पड़ा. अब उनके परिवार को आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था. जिससे उनके मन में ये बात घर कर गयी थी थी कुछ भी करके अपने परिवार को आर्थिक सहायता करनी ही है.
  • उन्होंने एक STD PCO खोला और उससे मिलने वाले पैसो से घर का गुजारा करने लगे परन्तु किसी कारन से उनका यह बिज़नेस भी ज्यादा दिन नहीं चल पाया और फिर से घर में पैसो की परेशानी आ गयी. 
  • उनकी माँ एक विशेष प्रकार का पान ( खाने वाला मीठा पान) बनाना जानती थी जिसको खाने से वह पान एक औषधि के रूप में काम करती थी. तो संदीप ने उसे घर घर जाकर बेचना शुरू किया। मगर आधुनिक दवाइयों के इस युग में वह आईडीआ काम नहीं आया.
  • फिर उन्होंने एक सस्ती साबुन का निर्माण अपने घर पर ही किया और उसे बेचने का प्रयास किया परन्तु ब्रांड न होने कारण उनकी साबुन बिक नहीं पायी। और उन्हें घर से लगभग 4000 Rs  का नुकसान उठाना पड़ा जो की उनके परिवार की उस समय की स्थिति के लिए काफी बड़ी रकम थी.
  • जब उन्होंने 12th क्लास पास की तो उन्हें एक आईडिया आया की क्यों न मेरी ही तरह 12th  पास हुए बच्चो को उनके भविष्य के लिए गाइड लाइन दिया जाये और कुछ पैसे भी कमाया जाये।तो उन्होंने 3000 पर्चे छपवाए और उन्हें लोकल news  paper  के साथ बटवा दिया। उस पर्चे में लिखा था की"12th  के बाद क्या पढाई करें?इसकी जानकारी निचे दिए नंबर पर कॉल करके फ्री में पाएं।"  और निचे पाने घर के लैंडलाइन फ़ोन का नंबर भी दे दिया।और कुछ कोचिंग सेंटर वालों से बात कर ली की अगर मैंने आपको एक स्टूडेंट दिया तो इसके बदले मुझे उनकी द्वारा मिलने वाले फीस में से कुछ प्रतिशत देंगे। इस प्रकार उन्होंने 12th  पास हुए बच्चो की मदद भी की और अपनी कमाई भी कर ली. पर यह काम उनके जीवन भर काम नहीं आने वाला था तो उन्होंने आगे किया।
  • उनकेकिसी दोस्त ने एक दिन एक सेमिनार में लेकर गए जो एक मल्टीलेवल मार्केटिंग कंपनी थी और एक स्टेज पर एक 22 वर्ष का लड़का अपनी success story  सुना रहा था जिसमे वह कह रहा था की  उसके एक महीने की कमाई 2.5 लाख रुपये है.और  इस बात को साबित करने के लिए उन्होंने एक बड़ा सा चेक प्रिंट करा के दिखा रहा था. तब उनके मन में एक बात का ख्याल आया की अगर ये लड़का इतने पैसे कमा सकता है तो फिर मै क्यों नहीं कमा सकता ? बस इसी दिन ने उनकी जिंदगी बदल दी.उन्होंने कुछ लोगो को उस मल्टीलेवल मार्केटिंग कंपनी से कुछ और लोगो को भी अपने पीछे जोड़ा। मगर इस काम में भी वे सफल नहीं हो सके.
  • इन सभी कामो में मिलने वाली असफलता से वे हर नहीं माने और आगे बढ़ते गए और उन्होंने 6 महीने का फोटोग्राफी की कोर्स किया और एक कैमरा खरीद कर फ्री में ही लोगो की फोटो खींचना सुरु किया। चूँकि उन्होंने एक मॉडल के रूप में भी कुछ समय काम किया था इसलिए उनको अच्छे से पता था की एक मॉडल को अपने करियर में कितना मेहनत करना पड़ता है और कितने सारे पैसे फोटो और पॉर्ट फोलियो बनवाने में खर्च हो जाते थे.
  • तो उन्होंने अपने प्रॉफ़ेशन को थोड़ा और आगे ले जाने के लिए उन लड़को का फ्री में पोर्ट फोलियो बनाना शुरू किया जो अपने मॉडल करियर में कुछ करना चाहते थे. इससे हुआ ये की मॉडल लड़को ही हेल्प भी हो गयी और संदीप को अपने पप्रॉफ़ेशन में थोड़ा और अनुभव मिल गया। 
  • अब की बार संदीप ने कुछ बड़ा करने का सोचा उन्होंने एक ad वाले पर्चे छपवाए और उसमे लिखा की  "फ्री में पोर्ट फोलिपो बनवाएं"  और निचे अपने शॉप का एड्रेस छपवा दिए. इस तरह उन्होंने 2003 में 10 घंटे 45 मिनट में 122 मॉडल का 10000 फोटो शॉट्स लेकर एक ही दिन में बिना रुके सबसे ज्यादा पोर्ट फोलियो बनाने का विश्व रिकॉर्ड भी बना लिया जो की लिम्का बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज़ है  जो की संदीप माहेश्वरी के नाम पर दर्ज है.
  • संदीप अब आगे बढ़ने लगा था उसे उसके सपने सच होते दिखाई दे रहे थे. उसे उसका प्रॉफ़ेशन मिल गया था और वो था  फोटोग्राफी  हालाँकि बहुत लोगो और परिवार वालो ने उसे रोकने की कोसिस की और कहा की फोटोग्राफी में कोई जिंदगी नहीं बनने वाली। आज तक कोई फोटोग्राफी करके बड़ा आदमी नहीं बना है. मगर इन सभी पर संदीप ने कभी ध्यान नहीं दिया. 
  • संदीप ने एक वेबसाइट तैयार की जिसका नाम है IMAGESBAZAR.COM इस वेबसाइट पर संदीप ने बहुत  मेहनत किया शुरू में इस वेबसाइट में बहुत सी परेशानिया आयी और इससे संदीप बहुत परेशान रहने लगे थे मगर कड़ी मेहनत और वेबसाइट प्रोग्रामिंग को अच्छे से सिखने के बाद खुद इस वेसीते को ठीक किया और फिर वेबसाइट के माध्यम से ही ही अपने और अपने टीम के द्वारा खींचे गए फोटोस को ऑनलाइन बेचना सुरु किया और देखते ही देखते उनकी कंपनी करोडो में कमाने लगी.
  • आज संदीप माहेश्वरी में पुरे भारत के लगभग 12000 फोटोग्राफर काम करते है. और उनकी कंपनी से जुड़े हुए है. 
  • और वे IMAGESBAZAR.COM के CEO  और founder जिसमे लगभग लाख मॉडल के फोटोस है. और साथ ही बहुत साडी फोटो आपको वह पर मिल जाएँगी।
  • संदीप माहेश्वरी ने करोडो का बिज़नेस खड़ा करने के बाद भी कभी पैसो के पीछे नहीं भागे इसका सबसे बड़ा उदहारण यह है की वो अब लोगो के लिए मोटिवेशनल सेमिनार का आयोजन  और इसमें शामिल होने वाले लोगो से पैसा नहीं लेते है. वे पुरे भारत में फ्री में सेमिनार करते है और लोगो को प्रेरित करते है 
  • तो दोस्तों ये थी संदीप माहेश्वरी की कहानी जो सिर्फ और सिर्फ अपने मेहनत और कुछ करना है के सपने के साथ आज STD PCO से करोडो कमाने वाली कंपनी के मालिक बने.
                                             
अगर आप सदीप माहेश्वरी के बारे में कुछ और  जानकारी लोगो से शेयर करना चाहते है तो कमेंट में जरूर लिखे और अपने भाई के वेबसाइट www.chhotubhai.com पर आते रहे. 

कोई टिप्पणी नहीं: