search(यहाँ खोजें)

100 % पथरी का आयुर्वेदिक इलाज, इन विधियों का प्रयोग करके 100 % आप पथरी से निजाद पा सकते हैं।

पथरी (पित्तशमरी) का आयुर्वेदिक इलाज
       
       पथरी (पित्तशमरी) इसके लक्षण निम्न है

  •  मूत्राशय में अफारा आकर फुला रहना,तथा इसके चारो ओर अत्यन्त पीड़ा रहना 
  • पेशाब में बकरे के पेशाब जैसी  आना 
  • पेशाब में दर्द होना 
  • भोजन पर अरुचि होना।  

तो आइए जानते है इसके इलाज के बारे में


प्रथम विधि  1 .   वरना की  छाल, सोंठ,गोखरू 8-8 ग्राम लेकर काढ़ा बना लें
इसमें दो ग्राम उत्तर यवक्षार और 2 ग्राम पुराना गुड़ मिलाकर पिने से पुरानी से पुरानी पथरी 100 % नष्ट हो जाती है।

 बेल के आश्चर्यजनक औषधि उपयोग सर्पविष ,ज्वर,ख़राब फोड़े, मसूड़े का रोग, वमन (उल्टी ) में

द्वितीय विधि 2. पाषाण भेद के काढ़े में शुद्ध शिलाजीत चीनी दाल पिलाने से पथरी (पित्तशमरी)  नष्ट हो जाती है।

      अपने मोबाइल को बनाइये मिनी प्रोजेक्टर (projector) घर में ही बनाए प्रोजेक्टर      अपने मोबाइल से


इन विधियों का प्रयोग करके 100 % आप पथरी से निजाद पा सकते हैं।
  Computer keyboard shourtcut keys hindi me ,keyboard shoutcutkey ,window7 shourtcut key,window XP shurtcut key

टीप     ये औषधि आपको किसी भी और्वेदिक दुकान पर मिलेंगे

कोई टिप्पणी नहीं: